For the best experience, open
https://m.uttranews.com
on your mobile browser.
अभी अभीदुनियाजॉब अलर्टअल्मोड़ाशिक्षापिथौरागढ़उत्तराखंडकोरोनानैनीतालबागेश्वरअपराधआपदाउत्तर प्रदेशउत्तरकाशीऊधम सिंह नगरकपकोटकालाढूंगीकाशीपुरकोटद्वारखटीमाचमोलीAbout UsCorrections PolicyEditorial teamEthics PolicyFACT CHECKING POLICYOwnership & Funding InformationPrivacy Policysportकुछ अनकहीखेलकूदखेलगरुड़चुनावजॉबचम्पावतझारखंडटनकपुरताड़ीखेतटिहरी गढ़वालदुर्घटनादेहरादूनदेशपर्यावरणपौड़ी गढ़वालप्रौद्योगिकीबेतालघाटबिजनेसबेरीनागभतरोजखानमनोरंजनमुद्दाराजनीतिरानीखेतरानीखेतरूड़कीरामनगररूद्रपुररूद्रप्रयागलोहाघाटशांतिपुरीविविधसंस्कृतिसाहित्यसिटीजन जर्नलिज़्मसेनासोमेश्वरहरिद्धारहरिद्वारहल्द्धानीहिमांचल प्रदेश
Advertisement

Pithoragarh- नन्ही परी सीमान्त इंजीनियरिंग संस्थान पिथौरागढ में CISCO सर्टिफाइड “स्किल ए थोन 2022“ कार्यशाला का हुआ आयोजन

pithoragarh  नन्ही परी सीमान्त इंजीनियरिंग संस्थान पिथौरागढ में cisco सर्टिफाइड “स्किल ए थोन 2022“ कार्यशाला का हुआ आयोजन
Advertisement

पिथौरागढ़। आज मंगलवार को सीमान्त इंजीनियरिंग कॉलेज पिथौरागढ के केन्द्रीय कंप्यूटर हाल में ऑनलाइन माध्यम से CISCO सर्टिफाइड “स्किल–ए–थोन 2022“ दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस कार्यशाला के अंतर्गत संस्थान के 200 से अधिक छात्र-छात्राओं ने ऑनलाइन कोर्स में पंजीकरण किया हुआ है।

Advertisement

Advertisement

“ स्किल – ए – थोन 2022“ के अंतर्गत साइबर सिक्यूरिटी के विभिन्न पहलुओं पर विस्तार से चर्चा की गई। चर्चा हुई कि आज के इस ऑनलाइन इन्टरनेट युग में कैसे साइबर वर्ल्ड को सुरक्षा प्रदान की जा सकती है। इन पहलुओं को CISCO कंपनी के मुख्य वक्ता इंजीनियर कार्तिक भारद्वाज द्वारा विस्तार से सैधान्तिक / प्रयोगात्मक रूप से समझाया जा रहा है।

बताया गया कि सीमान्त इंजीनियरिंग कॉलेज पिथौरागढ एवं CISCO इंटरनेशनल कंपनी के मध्य हुए करार के अंतर्गत भविष्य में छात्र-छात्राओं के लिए कई रोजगारपरक कोर्सेज को ऑनलाइन एवं ऑफलाइन माध्यम द्वारा सम्पन्न किया जाना है, जिसके उपरान्त छात्र-छात्राओं को भविष्य में ट्रेंनिंग एवं प्लेसमेंट हेतु भी प्रयास किये जाने हैं। सीमान्त इंजीनियरिंग कॉलेज पिथौरागढ के कंप्यूटर विज्ञान विभाग की विभागाध्यक्ष ज्योति जोशी बिष्ट एवं प्रो. (डॉ.) हेमंत कुमार जोशी (कुलसचिव) ने समन्वयक के रूप में कार्य सम्पादित किया गया। सहयोगी के रूप में प्रो. (डॉ.) दिनेश नेगी , प्रो. (डॉ.) योगेश कोठारी , डॉ० पुनीत चन्द्र वर्मा , ललित रौतेला, कविता जोशी , जगदीश भट्ट , भूपेश पाण्डेय आदि द्वारा सहयोग प्रदान किया गया। संस्थान प्रशासक / निदेशक महोदया रीना जोशी (आई०ए०एस०) ने सभी छात्र-छात्राओं को उज्जवल भविष्य की कामना सन्देश दिया गया।

Advertisement

Advertisement
×